20,000 crores estimated loss in Kerala by flood

0
22

खास बातें

  1. केरल में बाढ़ से 20 हज़ार करोड़ के नुकसान का अंदाज़ा है.
  2. केरल सरकार ने 2000 करोड़ रुपये जल्द से जल्द जारी करने की मांग की है
  3. केरल सरकार को अब तक सिर्फ 600 करोड़ रुपये ही मिले हैं

नई दिल्ली: केरल में बाढ़ से 20 हज़ार करोड़ के नुकसान का अंदाज़ा है. केरल सरकार ने 2000 करोड़ रुपये जल्द से जल्द जारी करने की मांग की है, लेकिन केंद्र से केरल सरकार को अब तक सिर्फ 600 करोड़ रुपये ही मिले हैं. केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा है कि उनकी सरकार नरेगा के तहत 26,000 करोड़ की मांग अलग से करेगी. इधर, राज्य सरकार ने बाढ़ में बरबाद हुए घरों की मरम्मत के लिए एक लाख तक का लोन देने का फैसला किया है. मुख्यमंत्री के दफ़्तर की ओर से इस बारे में ट्वीट किया गया है.

केरल को विदेशी मदद पर बहस जारी, UAE ने कहा, 700 करोड़ की रक़म तय नहीं 


सरकार बाढ़ से बर्बाद हुए हुए घरों की मरम्मत के लिए लोन देने की सोच रही है. सीएम पिनाराई विजयन ने सूचना दी है कि घर की महिला प्रमुखों को दिए जाने वाले एक लाख तक के लोन पर ब्याज नहीं लगेगा और ये ब्याज सरकार भरेगी. केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत का सामान ट्रेनों के जरिए भी भेजा जा रहा है. पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर इसमें मदद करने केरल के छात्र और कई लोग जुटे. छात्र राहत का सामान ट्रेनों पर लोड करने में भी मदद कर रहे हैं.

केरल बाढ़: मोदी सरकार ने कहा, 600 करोड़ रुपये सिर्फ अग्रिम सहायता, आगे और भी आर्थिक मदद देंगे


केरल में आई बाढ़ को लेकर UAE की 700 करोड़ की मदद भारत ले या न ले इसे लेकर भारत में बातचीत चल रही है. लेकिन भारत में UAE के राजदूत अहमद अलबाना का कहना है कि उनकी सरकार की ओर से अब तक मदद के लिए आधिकारिक तौर पर कोई रकम तय ही नहीं की गई है. इंडियन एक्सप्रेस अख़बार के मुताबिक अलबाना ने कहा कि बाढ़ के बाद अभी हालात का जायज़ा लेकर कितनी मदद की जाए इसका अंदाज़ा लगाया जा रहा है और अंतिम राशि अभी तक तय नहीं की गई है. इस हफ़्ते की शुरुआत में केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने कहा था कि अबू धाबी के क्राउन प्रिंस शेख़ मोहम्मद बिन जाईद अल नाह्यान ने पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत में 700 करोड़ की मदद का प्रस्ताव दिया था. 

टिप्पणियां

सबरीमाला मंदिर हुआ बंद, मंदिर को 100 करोड़ का नुकसान

वहीं सीपीएम के सांसद मोहम्मद सलीम ने कहा कि सिर्फ सीपीआई और केरल के लोग नहीं, बल्कि पूरे देश के लोग ये सवाल कर रहे हैं कि अगर आपके पास वित्तीय मदद नामंज़ूर करने का साहस है, फिर आपको कम से कम अपनी तरफ़ से कुछ करना चाहिए. केन्‍द्रीय मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने कहा कि जो भी नियम होगा उसके तहत होगा लेकिन केरल के लोगों को दिक्‍कत नहीं होगी. 

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here