Government giving reply on Rafale Deal, Says BJP MP Shatrughan Sinha

0
15

खास बातें

  1. राफेल मुद्दे पर सरकार के भीतर से भी उठने लगी आवाज
  2. बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा- देश को जवाब दे सरकार
  3. शत्रुघ्न सिन्हा ने मामले की जेपीसी जांच की मांग की

पटना: राफेल डील (Rafale Deal) को लेकर जारी घमासान के बीच अब सरकार के अंदर से ही आवाज उठने लगी है. विपक्षी दलों के बाद अब बीजेपी के ‘शत्रु’  शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने भी सरकार से इस मुद्दे पर जवाब की मांग की है. NDTV से बात करते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि सरकार को राफेल के मामले में जवाब देना चाहिए. पटना साहिब से बीजेपी सांसद ने कहा कि सच कहना कोई खिलाफत नहीं है और सिद्धांतों में बात करना कोई बगावत नहीं है. उसके बावजूद अगर सच कहना बगावत है तो मैं बागी हूं. क्योंकि मैं सच के आधार पर बात करता हूं. मुझे किसी व्यक्ति विशेष से कोई शिकायत नहीं है.  मैं भारतीय जनता पार्टी का जरूर हूं, लेकिन इससे पहले मैं भारत की जनता का हूं. बिहार की जनता का हूं. बिहार की जनता के प्रति मेरी जिम्मेदारी है. उनके प्रति मेरी जवाबदेही. उन्होंने कहा कि आप सिर्फ इनका जवाब दें दे कि 126 विमानों की बात हुई थी. हमने 36 पर समझौता क्यों किया? किन शर्तों पर समझौता किया? दाम इतने क्यों बढ़ा दिए गए? एक झूठ या एक सच को छुपाने के लिए हम 10 झूठ बोले जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि दूध का दूध और पानी का पानी होना चाहिए.

यह भी पढ़ें : Exclusive: NDTV से बोले रविशंकर प्रसाद, ‘बेशर्म’ हैं राहुल गांधी, उनका परिवार बिना किसी कमीशन के काम नहीं करता



उन्होंने कहा कि मेरी आदत है कि सिद्धांतों से समझौता नहीं करने की. मेरी आदत है सच को सच कहने की. मेरी आदत है कि अगर कोई तारीफ करता है, भले ही वह विपक्षी पार्टी के हो या फिर  तारीफ के लायक काम करें तो मैं उनकी तारीफ करता हूं. और वह शिकायत करें या गड़बड़ करें, या फिर अपने लोग ही गड़बड़ करें तो मैं जरूर सफेद को सफेद और काले को काला कहता हूं. 


यह भी पढ़ें : राफेल डील : रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी को कहा- बेशर्म, सुरजेवाला बोले- मोदी बाबा, चालीस चोर

​ 

rafale deal


उन्होंने कहा कि राफेल मुद्दे पर मैं यह नहीं कह रहा हूं कि कौन दोषी है और कौन नहीं. वह तो जांच के बाद पता चलेगा. लेकिन जो कुछ बातें सीधी-सीधी पूछी जा रही है, वह राष्ट्रहित में और देशहित में जवाब दें. आप राहुल गांधी को जवाब नहीं देना चाहते  हों, या विपक्ष पार्टियों को जवाब नहीं देना चाहते हैं तो नहीं दें, लेकिन पूरे देश में चिंता इस तरह फैली हुई है कि क्या वजह है कि राफेल डील 13 दिन पहले जो कंपनी बनाई गई उसके हवाले कर दी, वह भी एचएएल जैसी कंपनी को छोड़कर. क्या वजह है सिर्फ आप यही बता दो. आप दाम भी नहीं बता रहे हो. फिर उसके बाद आप कहते हैं कि जो डील यूपीए के समय हुई थी हमने उससे 9 प्रतिशत सस्ता में यह डील किया. 

यह भी पढ़ें : राफेल को लेकर लालू ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, बोले- जहजवा ही चुराकर खाने लगे..गजबे बा

पटना साहिब से बीजेपी सांसद ने कहा कि सरकार अगर खुद अपनी जांच के लिए खुद एजेंसी तय कर दे तो एक सवालिया निशान रह जाएगा. जनता इसपर भरोसा नहीं करेगी. मेरा मानना है कि जांच जेपीसी से होगी चाहिए. उन्होंने कहा कि जेपीसी में हमारा बहुमत है, लेकिन जेपीसी से जो बात निकलेगी वह दूर तलक जाएगी. सच्चाई को सामने आना ही होगा. अभी देर कर रहे हैं, राफेल का सवाल लोगों को परेशान कर रहा है. उन्होंने कहा कि राफेल कहीं बोफोर्स का ‘ग्रेट ग्रैंड फादर’ न बन जाए. 

टिप्पणियां

VIDEO : राफेल पर देश को जवाब दे सरकार: शत्रुघ्न सिन्हा

उन्होंने कहा कि जो लोग सवाल कर रहे हैं, वह राष्ट्रहित में कर रहे हैं, जनहित में कर रहे हैं, देशहित में कर रहे हैं. देश का पैसा, टैक्सपेयर्स का पैसा लेकर देश के जवानों और शहीदों के साथ मजाक करना और अचानक उनलोगों को ठेका दे देना जिसे डिफेंस के हवाईजहाज बनाने का अनुभव भी नहीं हो वह भी दाम इतना बढ़ाकर. आप सिर्फ इन सवालों का जवाब दे दें. आप सिर्फ इनका जवाब दें दे कि 126 विमानों की बात हुई थी. हमने 36 पर समझौता क्यों किया? किन शर्तों पर समझौता किया? दाम इतने क्यों बढ़ा दिए गए? एक झूठ या एक सच को छुपाने के लिए हम 10 झूठ बोले जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि दूध का दूध और पानी का पानी होना चाहिए.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here