Akhilesh Yadav being stopped at Lucknow airport to prevent him from attending Allahabad event

0
10
नई दिल्ली:

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ के वार्षिक कार्यक्रम में शिरकत करने जा रहे समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव को लखनऊ हवाई अड्डे पर ही रोक दिया गया है. बताया जा रहा है कि इलाहाबाद यूनिवर्सिटी ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विरोध के बाद कार्यक्रम में शिरकत करने की अखिलेश यादव को अनुमति नहीं दी है. यही वजह है कि लखनऊ पुलिस ने एयरपोर्ट पर उनके चार्टेड प्लेन को रोक दिया है. हालांकि, अभी साफ नहीं है कि अखिलेश यादव कार्यक्रम में जाएंगे या नहीं.

क्या प्रियंका गांधी वाड्रा उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की ओर से होंगी सीएम पद की उम्मीदवार?

इस घटना के बाद अखिलेश यादव ने ट्वीट किया- एक छात्र नेता के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से सरकार इतनी डर रही है कि मुझे लखनऊ हवाई-अड्डे पर रोका जा रहा है! उन्होंने आगे लिखा कि ‘बिना किसी लिखित आदेश के मुझे एयरपोर्ट पर रोका गया. पूछने पर भी स्थिति साफ करने में अधिकारी विफल रहे. छात्र संघ कार्यक्रम में जाने से रोकना का एक मात्र मकसद युवाओं के बीच समाजवादी विचारों और आवाज को दबाना है.

अखिलेश यादव का वह कदम, जो लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बन गया है मायावती के ‘गले की हड्डी’

उन्होंने आगे एक और ट्वीट किया और लिखा- मुझे बिना किसी लिखित आदेश के हवाई जहाज में चढ़ने से रोका गया. फिलहाल लखनऊ एयरपोर्ट पर हिरासत में लिया गया. यह स्पष्ट है कि छात्र नेता के शपथ समारोह से सरकार कितनी भयभीत है. भाजपा जानती है कि हमारे महान देश के युवा अब इस अन्याय को बर्दाश्त नहीं करेंगे.

युवा नेताओं के लिए ‘अग्निपरीक्षा’ की तरह होगा 2019 का लोकसभा चुनाव, पार्टी को नया मुकाम दिलाने की होगी चुनौती

अखिलेश यादव ने कुछ तस्वीरें भी शेयर की हैं, जिसमें देखा जा सकता है कि अखिलेश यादव नीचे हैं और अधिकारी उन्हें जहाज पर चढ़ने से रोक रहे हैं. दरअसल, अखिलेश यादव के जाने को लेकर एबीवीपी के लोग विरोध कर रहे हैं. एबीवीपी ने विश्वविद्यालय प्रशासन से मांग की है कि किसी भी राजनीतिक व्यक्ति को इस कार्यक्रम में आने की अनुमति नहीं दी जाए. यही वजह है कि छात्रसंघ के कार्यक्रम में आने के लिए यूनिवर्सिटी ने अखिलेश को परमिशऩ नहीं दी. एयरपोर्ट पर चार्टेड प्लेन को रोक दिया गया. पुलिस ने परमिशन नहीं देने का हवाला दिया है. 

दरअसल, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ के वार्षिक कार्यक्रम में अखिलेश यादव को जाना था. इलाहाबाद में छात्रसंघ का अध्यक्ष समाजवादी पार्टी का है और ज्वाइंट सेक्रेटरी भी. एबीवीपी इसका विरोध इसलिए भी कर रही है क्योंकि साल 2015 में भी छात्रसंघ के कार्यक्रम में भाग लेने से योगी आदित्यनाथ को रोक दिया गया था. एबीवीपी ने 2015 में योगी आदित्यनाथ को छात्रसंघ का उद्घाटन के लिए बुलाए था. उस वक्त सपा की ऋचा सिंह अध्यक्ष थीं और उन्होंने आरोप लगाया था कि उन्हें बिना बताए एबीवीपी वालों ने योगी आदित्यनाथ को बुलाया है. इसलिए उस वक्त भी यूनिवर्सिटी ने योगी आदित्यनाथ को रोक दिया था. 

प्रियंका गांधी के राजनीति में आने पर अखिलेश यादव ने किया स्वागत​


 



Source

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here