BSP Chief Mayawati Slams Election Commission – चुनाव आयोग की कार्रवाई पर भड़की बसपा प्रमुख मायावती, कहा

0
1

खास बातें

  1. बसपा प्रमुख के बयान पर बवाल
  2. चुनाव आयोग ने मायावती से जवाब मांगा
  3. मायावती ने चुनाव आयोग पर लगाए आरोप

लखनऊ:

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने चुनाव आयोग द्वारा उनपर अगले 48 घंटों तक किसी भी तरह के चुनाव प्रचार पर रोक लगाने को गलत बताया है. उन्होंने सोमवार को कहा कि  चुनाव आयोग पर आरोप लगाते हुए कि जिस तरह से चुनाव आयोग काम कर रही है यह लोकतंत्र की हत्या जैसा है. उन्होंने इस दौरान पीएम मोदी और अमित शाह पर भी निशाना साधा. मायावती ने कहा कि चुनाव आयोग ने अमित शाह और पीएम मोदी को लोगों के बीच नफरत फैलाने की खुली छूट दी हुई है. मुझे तो ऐसा लगता है कि जब इन दोनों की बात आती है तो चुनाव आयोग अपने कान और आंख बंद कर लेती है. 

कांग्रेस ने कहा, योगी आदित्यनाथ की तरह पीएम मोदी और अमित शाह के प्रचार पर भी लगे रोक

बसपा प्रमुख का यह बयान चुनाव आयोग की उस कार्रवाई के बाद आया है जिसके तहत मायावती पर बैन लगाया गया है. बता दें कि पिछले सप्ताह मायावती ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव के साथ मिलकर देवबंद में एक रैली की थी. इसी रौली के दौरान उन्होंने मुस्लिमों से अपने वोट को न बंटने देने की बात कही थी. इसी भाषण के बाद चुनाव आयोग ने मायावती को आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाया था.

मायावती ने गाजीपुर से माफिया मुख्तार अंसारी के भाई और अंबेडकर नगर से राकेश पांडे के बेटे को दिया टिकट

हालांकि, मायावती ने कहा कि मैंने यह पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि मैनें उस रैली के दौरान किसी से भी जाति या धर्म के आधार पर वोट नहीं मांगा है. मैंने सिर्फ मुसलमानों से यह अनुरोध किया था कि वह मतदान के दौरान अपने मतों को बंटने ने दें. मैं आपको एक बार फिर बदा देना चाहती हूं कि उस दिन मैंने जो कहा वह किसी जाति या धर्म के आधार पर वोट लेने के लिए नहीं कहा था. लेकिन चुनाव आयोग इस पूरे मामले को बढ़ा-चढ़ा कर देख रहा है. 

टिप्पणियां

‘बजरंगबली और अली’ का विवाद पैदा करने वाली ताकतों से सावधान रहने की जरूरत : मायावती

चुनाव आयोग द्वारा मायावती पर 48 घंटे का बैन लगाने का साफ मतलब यह है कि वह गठबंधन की आगरा में होने वाली रैली में हिस्सा नहीं ले पाएंगी. आगरा में मंगलवार को चुनाव प्रचार का आखिरी दिन है. 

Source

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here